[TOP 7] प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम | प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम

खुजली एक सामान्य समस्या है लेकिन बहुत परेशान करने वाला समस्या है| खुजली हाथ में, पाव में, प्राइवेट पार्ट में व शारीर के अन्य किसी भी अंग में हो सकता है आज हम प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम के बारे में जान्ने वाले है|

खुजली शारीर के किसी भी भाग में हो वह यदि जल्दी ठीक न हो तो धीरे धीरे पुरे शारीर में बहुत आसानी से फ़ैल जाता है इसलिए जो इसको अनदेखा करते है उनको बहुत ज्यादा लम्बे समय तक खुजली की समस्या रहती है व ठीक नहीं होती|

यदि आपको भी शारीर के प्राइवेट पार्ट में या शारीर के अन्य किसी भाग में खुजली की सिकायत है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते है| इस आर्टिकल में हम प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के बारे में साथ ही प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम के बारे में बताने वाले है|

इस आर्टिकल को पढ़ कर आप किसी भी तरह की खुजली, दाद, दिनाय या फंगल इन्फेक्शन के लिए बेस्ट दवाई, टेबलेट व क्रीम का चुनाव कर सकेंगे|

TOC SHOW

प्राइवेट पार्ट में खुजली होने का कारण

प्राइवेट पार्ट में खुजली होने का कारण
प्राइवेट पार्ट में खुजली होने का कारण

खुजली किसी को भी और कही भी हो सकता है, खुजली संक्रमण के कारण बहुत तेजी से फैलता है और शारीर में गन्दगी और पसीना खुजली को पनामने में सहायक होते है| प्राइवेट पार्ट में खुजली होने का मुख्य कारण निम्नलिखित है|

  • प्राइवेट पार्ट की सफाई न होना|
  • प्राइवेट पार्ट में बहुत पसीने का आना|
  • गंदे बाथरूम में पेशाब करने के कारण इन्फेक्शन होना|
  • UTI (यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन) का होना|
  • बहुत गर्म और चिपके हुए कपडे पेहेन्ना|
  • अंडर वेयर की ठीक से सफाई न करना या गंदे अंडर वेयर पेहेन्ना|
  • शारीर के किसी और भाग में हुए खुजली का प्राइवेट पार्ट तक पहुंचना|

प्राइवेट पार्ट में खुजली होने का उपरोक्त कुछ सामान्य कारण होते है बाकी शारीर के अन्य कुछ भागों में भी खुजली होने के कुछ सामान्य कारण यही होते है और अन्य कुछ कारणों में शारीर की सही से सफाई न रखना, खुजली के संक्रमण वाले कपडे या चीजों का उपयोग करना और शारीर में कडवाहट अर्थात खून का साफ़ न होना शामिल है|

शारीर में खुजली कई प्रकार के होते है जैसे दाद, खाज, खुजली या दिनाय इत्यादि और इन्ही में से कोई प्राइवेट पार्ट में हो रही खुजली का भी कारण होता है| यदि किसी व्यक्ति के शारीर में बहुत ही भयानक दाद, खाज या खुजली हो तो उसको किसी अच्छे चर्म रोग विशेष के डॉक्टर से प्रॉपर इलाज कराना चाहिए इसके बिना यह खुद ठीक नहीं होते|

छोटे मोट खुजली को ठीक करने के लिए इस आर्टिकल में बताये जाने वाले प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट का इस्तेमाल कर सकते है साथ ही प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम इत्यादि के बारे में भी विस्तृत जानकारी आगे जानने को मिलेगी|

प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम

प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट
प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

खुजली (इचिंग) या फंगल इन्फेक्शन यह दोनों एक ही प्रकृति के रोग होते है यदि शारीर में खुजली बहुत कम मात्रा में हो रही हो तो उसका इलाज बहुत छोटी मोटी एंटी फंगल दवाइयाँ व टेबलेट अथवा क्रीम को लगाने से हो जाता है लेकिन प्राइवेट पार्ट में खुजली का कारण कोई भयानक दाद, खाज हो या खुजली बहुत बढ़ चुकी हो तब टेबलेट का उपयोग किया जा सकता है|

बहुत खुजली हो रही हो या प्राइवेट पार्ट में खुजली हो रही हो तो सबसे पहले ये जान लेना चाहिए की खुजली होने का कारण क्या है|

यदि प्राइवेट पार्ट में हो रही खुजली का कारण कोई दाद, खाज हो तो उसका इलाज जल्द से जल्द व सही तरीके से करना आवश्यक होता है| निचे हम सामान्य प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम के बारे में जानकारी दे रहे है| यदि दाद, खाज या दिनाय भी हो तो इस प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम से जरूर राहत मिलेगी|

प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के लिस्ट:

  1. Itraconazole Tablet
  2. Clotrimazole Tablet
  3. Griseofulvin Tablet
  4. Miconazole Tablet
  5. Terbinafine tablet
  6. Ketoconazole Tablet

1. Itraconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यह दवाई बहुत लम्बे समय से चलते आ रहे दाद, खाज व खुजली को ठीक करने के लिए है लेकिन इसको प्राइवेट पार्ट में खुजली होने की स्थिति में भी इस्तेमाल किया जा सकता है|

Itraconazole - प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट
Itraconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

Intraconazole दवाई दो प्रकार की होती है एक Intraconazole-100 और दूसरा Intraconazole-200 डॉक्टर की सलाह से इस्तेमाल करने पर डॉक्टर आपके स्थिति के अनुसार Intraconazole-100 या Intraconazole-200 की टेबलेट लेने की सलाह दे सकते है|

Intraconazole Tablet की विशेषताएं

  • यदि प्राइवेट पार्ट में दाद खाज के कारण हो रही खुजली को ठीक करने में सक्षम है|
  • यह दवाई लम्बे समय से खुजली से पीड़ित के लिए है|
  • इस दवाई को केवल डॉक्टर के सलाह से इस्तेमाल करना सही होता है|
  • इस दवाई से मरीज को जरूर रहत मिलती है|

यह दवाई लम्बे समय से चली आ रही खुजली या दाद खाज को ठीक करने के लिए बनाई गयी है लेकिन डॉक्टर के सलाह से छोटी मोटी खुजली की समस्या को भी ठीक करने के लिए इस टेबलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है|

2. Clotrimazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यह एक एंटी फंगल दवाई है जिसको फंगल संक्रमण को दूर करने के लिए और खुजली को ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है| यह दवाई टेबलेट, क्रीम और एंटी फंगल पाउडर तीनो रूप में आता है| 

Clotrimazole - प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट
Clotrimazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यह दवाई एंटी फंगल की श्रेणी में आता है इस दवाई को ईस्ट संक्रमण के कारण हो रहे दाद खाज या खुजली को ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है| यदि आपको प्राइवेट पार्ट में खुजली हो रही हो तो इस टेबलेट या क्रीम का इस्तेमाल एक अच्छा विकल्प हो सकता है|

Clotrimazole Tablet की विशेषताएं:

  • यह दवाई टेबलेट, क्रीम व पाउडर तीनों के रूप में आता है|
  • दाद, खाज खुजली व दिनाय के होने पर इस टेबलेट का उपयोग किया जाता है|
  • इसको बिना डॉक्टर के सलाह के इस्तेमाल नहीं करना चाहिए|

यदि आप प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट या प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम को धून रहे है तो ये Clotrimazole की दवा बहुत उपयोगी हो सकता है प्राइवेट पार्ट की खुजली या शारीर की खुजली में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है|

3. Griseofulvin – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यह टेबलेट बहुत लम्बे समय से चलते आ रहे दाद, खाज व खुजली को ठीक करने के लिए इस्तेमाल की जाती है| प्राइवेट पार्ट में हो रहे खुजली को ठीक करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है| यदि दाद, खाज या दिनाय की समस्या हो तो उसको जड़ से ठीक करने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते है|

Griseofulvin - प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट
Griseofulvin – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यदि भयानक दाद, खाज हो तो यह फंगल इन्फेक्शन की टेबलेट को डॉक्टर आपके परिस्थीती के अनुसार Griseofulvin 125 mg या Griseofulvin 250 mg लेने की सलाह दे सकते है|

Griseofulvin Tablet की विशेषताएं:

  • बाहरी दाद, खाज खुजली जैसे फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में कारगर है|
  • दवाई दो वेरिएंट 125 mg और 250 mg में आता है|
  • सामान्य खुजली होने पर केबल 1 टेबलेट ही कारगर होता है|
  • 1000 mg के डोज़ से ज्यादा दवाई लेने पर साइड इफ़ेक्ट देखने को मिल सकते है|
  • डॉक्टर के बिना सलाह के इस दवाई का प्रयोग न करे|

फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए ग़्रिसिओफ़ुल्विन (Griseofulvin) एक अच्छा विकल्प है यह प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट लम्बे समय से चले आ रहे फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में इस्तेमाल किया जाता है|

4. Miconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यह दवाई भयंकर दाद खाज को ठीक करने में इस्तेमाल की जाती है, Miconazole क्रीम शारीर पर हुए फंगल इन्फेक्शन को जड़ से ख़त्म करती है और नए फंगल इन्फेक्शन को बढ़ने से रोकती है| शारीर पर या प्राइवेट पार्ट में हो रहे खुजली को रोकने के लिए यह एक अच्छा दवाई है|

यह दवाई 12 वर्ष से अधिक उम्र के युवा या युवती के लिए है इसलिए इसदवाई को बिना डॉक्टर के सलाह के इस्तेमाल न करें और बच्चे इस दवाई को न इस्तेमाल करें|

5. Terbinafine प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

यह एक एंटी फंगल दवाई है जो क्रीम और टेबलेट दोनों के रूप में आती प्राइवेट पार्ट में या शारीर के अन्य किसी भाग में खुजली या छोटे मोटे दाद, खाज व खुजली की समस्या हो तो इसको प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट का के रूप में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है|

यह एक एंटी फंगल दवाई है जो शारीर के अन्दर के संक्रमण को बहार निकलता है और बाहरी संक्रमण को शारीर में आने से रोकता है|

बहुत ही लम्बे समय से दाद, खाज खुजली की समस्या है तो आप Terbinafine tablet का उपयोग कर सकते है इससे बहुत राहत मिलती है| केवल डॉक्टर की सलाह पर ही इस्तेमाल करें|

यहाँ तक के आर्टिकल में हमने प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के बारे में बहुत सी बाते की है और कई सरे प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के बारे में विस्तृत जानकारी दी है| ऊपर बताई गयी जितनी भी टेबलेट है वह अधिकतर बहुत बड़े दाद, खाज व खुजली को ठीक करने के लिए बने है और छोटे मोटे खुजली को ठीक करने में भी कारगर है|

किसी भी तरह के बीमारी में हमेशा टेबलेट का इस्तेमाल कम से कम करना सही होता है और यदि संभव हो तो किसी बाहरी दवाई का उपयोग ही न हो यह और अच्छा विकल्प है लेकिन स्थिति बहुत गंभीर हो जाने पर सही उपचार का होना जरुरी होता है|

प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम के इस लेख में हमने अभी तक प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के बारे में कई जानकारियाँ पढ़ी है चलिए आगे अब प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम के बारे में भी थोडा बहुत जान लेते है|

READ MORE

प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम | प्राइवेट पार्ट में खुजली cream

प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम
प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम

सामान्यतः यदि किसी को दाद, खाज या खुजली हो जाये तो वह सीधे मेडिकल स्टोर पर जाकर जो क्रीम मिले वह लेकर इस्तेमाल करने लगते है जिससे कई लोगों का खुजली ठीक भी हो जाता है लेकिन कईयों का नहीं होता इसका कारण है स्टेरॉयड|

क्या आप यह जानते है की अधिकतर खुजली मिटाने की क्रीम का परचार जो टीवी पर लगातार आता रहता है उनमे भी अधिकतर स्टेरॉयड मिलाया गया होता है|

स्टेरॉयड किसी भी प्रकार के दाद खाज व खुजली को कुछ दिनों के लिए त्वचा पर से मिटा देता है लेकिन कुछ समय बाद उसी स्थान पर पहले से दुगुना अकार में दाद खाज व खुजली होने लगता है इसलिए ऐसे प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम से बचना चाहिए|

बाजार में मिलने वाली अधिकतर खुजली की क्रीम में स्टेरॉयड मिला होता है लेकिन निचे कुछ क्रीम बताये गए है जिसका इस्तेमाल प्राइवेट में हो रहे खुजली को ठीक करने के लिए कर सकते|

1. Sertaconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम

यह एक एंटी फंगल क्रीम है जो जैविक संक्रमण को ख़त्म करने का कार्य करता है जिसके कारण खुजली या दाद, खाज की समस्या ठीक होती है| प्राइवेट पार्ट में खुजली हो या शारीर के किसी भी भाग में आप इस क्रीम का उपयोग कर सकते है बहुत अधिक लाभ मिलता है|

शारीर के किसी भी जगह पर लाल चकता वाला दाग या खुरदरा त्वचा छोटे छोटे मुँहासे वाले खाज खुजली किसी को भी ठीक करने में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है|

2. Luliconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम

यह भी खुजली की एंटी फंगल क्रीम है जिसको शारीर के किसी भी भाग में हो रहे खुजली को ठीक करने के लिए इस्तेमाल कर सकते है|

दाद खाज, खुजली व दिनाय इत्यादि फंगल के संक्रमण को ठीक करने के लिए बहुत अच्छी क्रीम है| इसको प्राइवेट पार्ट में खुजली के क्रीम के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है|

3. Miconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम | प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट

Miconazole भयंकर दाद खाज की एंटी फंगल क्रीम है, Miconazole क्रीम शारीर पर हुए फंगल इन्फेक्शन को जड़ से ख़त्म करती है और नए फंगल इन्फेक्शन को बढ़ने से रोकती है| इस क्रीम को शारीर के किसी भी जगह के फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में इस्तेमाल किया जा सकता है|

4. Ketoconazole – प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम

यह क्रीम फंगस या जैविक संक्रमण के इलाज के लिए बहुत अच्छी है, दाद, खाज खुजली या दिनाय इत्यादि को ठीक करने के लिए इस क्रीम का प्रयोग किया जा सकता है|

यदि खुजली बहुत पुराना न हो तो इस क्रीम से तुरंत ही कुछ ही दिनों में पूरी तरह से ठीक हो सकता है| इसको बिना डॉक्टर के सलाह लिए इस्तेमाल कर सकते है|

प्राइवेट पार्ट में खुजली के घरेलु उपाय (प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम)

प्राइवेट पार्ट में खुजली के घरेलु उपाय
प्राइवेट पार्ट में खुजली के घरेलु उपाय

खुजली या किसी भी तरह का जैविक संक्रमण जिससे दाद, खाज, खुजली या दिनाय होने का खतरा होता है उससे बचने के लिए सबसे पहला उपाय तो यह होता है की हमेशा शारीर को साफ़ रखने की कोशिस करे और हमेशा आस पास स्वच्छता का ध्यान दे व मीठा खाने से बचे|

प्राइवेट पार्ट में खुजली को ठीक करने के लिए निम्नलिखित घरेलु उपाय अपना सकते है|

1. हमेशा प्राइवेट पार्ट को साफ़ रखे व रोजाना नहाएं|

2. हमेशा अंडर वेयर और अन्य कपडे धुले हुए एवं साफ़ हो तभी पहने|

3. खुजली वाले जगह को खुली हवा में रखे या बिलकुल ढीला कपडा पहने|

4. नहाने के लिए एंटी फंगल साबुन और सेम्पू का इस्तेमाल करें|

5. प्राइवेट पार्ट में हो रही खुजली को ठीक करने के लिए रोजाना नीम की पानी से स्नान करें बहुत लाभ होगा|

6. गंदे बाथरूम का कभी इस्तेमाल न करें|

7. प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट के तौर पर नीम की टेबलेट या आयुर्वेदिक नीम की गोली खाएं|

8. मीठा से दूर रहने की कोसिस करें|

यहाँ तक प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम के इस आर्टिकल में हमने प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट, प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम और प्राइवेट पार्ट में खुजली के घरेलु उपाय इत्यादि के बारे में सभी जानकारी विस्तारपूर्वक बतायी है आशा करता हु आपको उपरोक्त जानकारी से लाभ मिला होगा|

प्राइवेट पार्ट में खुजली हो तो क्या करना चाहिए?

प्राइवेट पार्ट में खुजली हो जाये तो निम्नलिखित कार्य कर सकते है|
1. रोजाना नहाएं|
2. हमेशा एंटी सेप्टिक लिक्विड से धुले हुए कपडे पहने|
3. चिपकी हुई जींस या अन्य चिपके हुए कपडे पेहेन्ना छोर दें|
4. नीम के पत्ते को उबालकर रोजाना नहाने से बहुत लाभ होता है|
5. हमेशा एंटी फंगल शाबुन या सेम्पू का इस्तेमाल करें|

प्राइवेट पार्ट में खुजली के कारण

प्राइवेट पार्ट में खुजली होने के निम्नलिखित कारण होते है|
1. प्राइवेट पार्ट में बहुत ज्यदा पसीना आना|
2. प्राइवेट पार्ट के आस पास गन्दगी का होना|
3. प्राइवेट पार्ट का साफ़ न होना|
4. चिपके हुए जींस या अन्य कपडे पेहेन्ना |
5. शारीर में अन्य किसी जगह में फंगल इन्फेक्शन का होना|
6. UTI का हो जाना|

प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट नाम लिस्ट

टेबलेट:
1. Itraconazole Tablet
2. Clotrimazole Tablet
3. Griseofulvin Tablet
4. Miconazole Tablet
5. Terbinafine tablet
6. Ketoconazole Tablet

क्रीम:
1. Sertaconazole
2. Luliconazole
3. Miconazole
4. Ketoconazole

निष्कर्ष

खुजली की समस्या बहुत आम समस्या होती है लेकिन बहुत ज्यदा परेशानी देने वाली समस्या भी होती है और उस पर यदि प्राइवेट पार्ट में खुजली हो जाये तो और ज्यदा तकलीफ होता है इस आर्टिकल में प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट, प्राइवेट पार्ट में खुजली के उपाय क्रीम और प्राइवेट पार्ट में खुजली के घरेलु उपाय इत्यादि इत्यादि के बारे में बहुत विस्तार से जानकारी दी गयी है|

इस आर्टिकल को पूरा पढ़ कर प्राइवेट पार्ट में खुजली के लिए सबसे बेस्ट टेबलेट और अच्छी क्रीम के बारे में चयन कर सकेंगे| यदि आपने प्राइवेट पार्ट में खुजली की टेबलेट व क्रीम के बारे में लिख हुआ ये आर्टिकल पूरा पढ़ लिया है तो आशा करते है आपको इस आर्टिकल में आपकी जरुरत की जानकारी मिली होगी|

READ MORE

Rate this post

Leave a Comment