पतंजलि का [UTI] यूरिन इन्फेक्श आयुर्वेदिक इलाज | यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि

यदि आप महिला हैं अथवा कोई वृद्ध तो इसकी बहुत संभावना है की आपको कभी न कभी (UTI) यूरिन इन्फेक्शन हुआ हो या हो रखा हो आज हम यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि में क्या लिखा है उसके सन्दर्भ में बात करने वाले हो और हम आपको यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय क्या कर सकते है ये भी बताएँगे|

UTI (यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन) जिसको सामान्य भाषा में यूरिन इन्फेक्शन और मूत्र संक्रमण भी बोलते है यह महिलओं अथवा वृद्ध व्यक्ति में होने वाला सबसे सामान्य परेशानियों में से एक है| इस संक्रमण के होने पर व्यक्ति को पेशाब और पेशाब के रास्ते से जुडी हुई बहुत सी समस्याए होती है|

(UTI) यूरिन इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए आवश्यक एंटीबायोटिक लेकर इलाज करना पड़ता है लेकिन यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय करके भी राहत पायी जा सकती है इसलिए यह आर्टिकल बहुत रिसर्च करके आपके लिए लिखा जा रहा है इसमें आगे आप यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि में क्या है इसके बारे में विस्तार से जानेंगे|

(UTI) यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण – यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि

मूत्र संक्रमण या यूरिन इन्फेक्शन बहुत ही आम समस्या है यह महिला अथवा पुरुष दोनों में देखने को मिलती है लेकिन महिलओं और वृद्ध व्यक्तियों में यह इन्फेक्शन अधिकतर पाया जाता है| (UTI) यूरिन इन्फेक्शन यह छोटे बच्चो में भी होता है इसके होने पर सामान्यतः पेशाब रुक रुक के आता है|

यदि किसी छोटे बच्चे, महिला को अथवा किसी पुरुष को पेशाब करते वक्त, पेशाब रुक रुक के आता है, पेशाब करते वक्त जलन होती है या हमेशा पेशाब का रंग गहरा और पेशाब बदबूदार निकलता है तो इसकी पूर्ण संभावना है की वह बच्चा, महिला या पुरुष को UTI (यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन) या यूरिन इन्फेक्शन हुआ है|

आज हम यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि और यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय के बारे में हम जान रहे है इसलिए बिमारी के इलाज को ढूँढने से पहले इसके लक्षण के बारे में जान लेना आवश्यक है|

(UTI) यूरिन इन्फेक्शन के निम्नलिखित लक्षण होते है|

  • गहरे रंग के पेशाब का आना
  • पेशाब रुक रुक के आना
  • बदबूदार पेशाब का आना
  • पेशाब करते वक्त जलन का महसूस होना
  • पेशाब के साथ खून निकलना
  • कमजोरी महसूस होना
  • बुखार भी लग सकता है
  • बार बार मूत्र के त्याग का मन करना
  • नाभि के निचे दर्द महसूस होना
  • पेशाब में मवाद का आना

यूरिन इन्फेक्शन के होने पर उपरोक्त सभी यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण में से एक या दो लक्षण व्यक्ति में जरूर दीखता है| वैसे तो (UTI) यूरिन इन्फेक्शन कोई बहुत भयानक समस्या नहीं है लेकिन इसको अनदेखा करने पर जान भी जा सकती है| यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय

यूरिन इन्फेक्शन या मूत्र संक्रमण एक ऐसा बीमारी है जो अगर किसी भी महिला या व्यक्ति में हो जाये तो उसका अच्छे से इलाज करने के लिए डॉक्टर या विशेशग्य के पास टेस्ट कराकर प्रॉपर एंटीबायोटिक की दवाइयाँ लेनी पढ़ती है बीच में दवाई छोड़ने पर यह बाद में खराबी करता है|

लेकिन उससे पहले यदि आप यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय या यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि अर्थात घर पर ही प्राकृतिक चीजो से उपचार करते है, यह आपके स्वास्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है| यदि समस्या गंभीर है तो आपको डॉक्टर से चेकअप कराकर 10 से 12 15 दिन की एंटीबायोटिक की दवाई लेकर ठीक हो सकते है|

(UTI) यूरिन इन्फेक्शन होने का कारण – यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि

मूत्र संक्रमण या यूरिन इन्फेक्शन होने का सबसे बड़ा कारण होता है कम पानी का सेवन करना, पेशाब को बहुत लम्बे समय तक दबाके रखना या लम्बे समय तक पेशाब करने न जाना| महिलओं में अधिकतर कम पानी पिने से, गंदे शोचालय का इस्तेमाल करने से या गुप्तांगो की सफाई न रखने से होता है|

यूरिन इन्फेक्शन होने के कई कारण है लेकिन सभी कारणों का आधार सफाई का न होना है, सफाई चाहे बहरी तौर पर या आतंरिक शारीर के तौर पर| यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय

(UTI) यूरिन इन्फेक्शन होने का निम्नलिखित कारण होते हैं|

  •  कम पानी पीना 
  • कम बाथरूम जाना
  • पेशाब को लम्बे समय तक रोके रखना
  • गंदे टॉयलेट का इस्तेमाल
  • शारीर को साफ़ न रखना
  • गर्भावस्था के दौरान
  • डायबिटीज (शुगर) का होना
  • पथरी रोग का होना
  • गन्दा पानी और खाने का सेवन करना
  • अधिक लोगो के शाथ योन सम्बन्ध बनाना
  • अधिक एंटीबॉयोअिक दवायों का प्रयोग

उपरोक्त ये सभी सामान्य कारण है जिसके वजह से (UTI) यूरिन इन्फेक्शन होता है, वैसे तो मूत्र संक्रमण के और भी कारण होते है लेकिन ये कारण सामान्य तौर पर संक्रमण के मूल कारण है| 

(UTI) यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण या मूत्र संक्रमण कहाँ होता है? यदि आपको नहीं पता तो मे समझाने की कोसिस करता हूँ की, पेट के अन्दर जो पेशाब की थैली होती है उस थैली में या पेसाब के अन्दर से बहार आने तक के किसी भी रस्ते में किसी भी प्रकार के बेक्टेरिया के वजह से इन्फेक्शन होता है तब उसको (UTI) यूरिन इन्फेक्शन बोला जाता है|

यादी आप ज्यादा एंटीबायोटिक की दवाइया लेते है या किडनी का पथरी का या सुगर की दवाइया लेते है तो उससे भी (UTI) यूरिन इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है| यदि सही खान पान और शारीर की आतंरिक और बहरी तौर पर सफाई रखे तो यूरिन इन्फेक्शन से बहुत आसानी से बचा जा सकता है|

READ MORE

चलिए आगे हम जानेंगे यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि और यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय के बारे में, इन आयुर्वेदिक उपचार से आपको (UTI) यूरिन इन्फेक्शन में ही नहीं बल्कि शारीर के अन्य छुपे हुए रोगों का भी कारगर इलाज होगा| 

यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि के उपचार से आपको रिजल्ट मिलने में थोडा समय लग सकता है लेकिन यह आपके पुरे शारीर के लिए लाभदायक हो सकता है| यदि समस्या गंभीर  या बार बार UTI की समस्या होती है तो तुरंत डॉक्टर से चेकअप कराये| यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू 

पतंजलि आयुर्वेदिक इलाज यूरिन इन्फेक्शन  | यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि

आयुर्वेद में लगभग हर प्रकार के शारीरिक कस्ट और बीमारी को ठीक करने का उपाय बताया गया है| भारतीय आयुर्वेद कितना ज्ञान और गुणों से भरपूर है इसके बारे में तो हर एक भारतीय को जानकारी होगी| यूरिन इन्फेक्शन को भी आयुर्वेद की दवाइयों और प्रक्रियाओ के द्वारा ठीक किया जा सकता है|

पतंजलि जो भारत के एक मुनि थे जिन्होंने योगसूत्र की रचना की और उनके नाम पर उत्तराखंड में बनी कंपनी जो आयुर्वेद में बताई गयी आयुर्वेदिक दवाइया और खान पान की चीजो का निर्माण करने वाली स्वस्थ उद्योग है इन्होने यूरिन इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए दवाइया बनाई है जो हम आगे जानेंगे| यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय

यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि के अनुसार करने के लिए आपको निम्नलिखित बातो को फॉलो करना चाहिए|

  • हरे नारियल का पानी त्वचा और स्वस्थ के लिए अच्छा होता है यूरिन इन्फेक्शन होने पर इसका रोजाना सेवन करे इससे पेशाब करते वक्त जलन ख़त्म होगा और नारियल पानी से पेट भी ठंडा रहेगा|
  • विटामिन c से भरपूर खट्टे फल, यूरिन इन्फेक्शन होने पर मोसम्मी, संतरा और अनानास जैसे फलो का सेवन करें| साइट्रस फलो के सेवन से शारीर में मोजूद बेक्टेरिया ख़त्म होते है और यूरिन इन्फेक्शन ठीक होता है|
  • क्रैनबेरी जूस में एक एक्टिव तत्व Proanthocyanidins होता है और यह मूत्र मार्ग में होने वाले बेक्टेरिया को ख़त्म करता है इसके सेवन करने से यूरिन इन्फेक्शन को ठीक करने में रहत मिलती है|
  • हमेशा साफ़ और स्वच्छ भोजल करे और अधिक से अधिक जूस और पानी को पिए| स्वच्छ पेय पदार्थ के सेवन करने पर शारीर के अन्दर के गन्दगी बहार निकलती है और यूरिन इन्फेक्शन ठीक होता है|
  • अनानास एक साइट्रस श्रेणी का फल है इसको खाने से शरीर के बैक्टीरिया ख़त्म होते है और यूरिन इन्फेक्शन ठीक होता है इसके जूस को रोजाना पिने से यूरिन इन्फेक्शन UTI (यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन) को ठीक करने में बहुत आसानी होती है|
  • यह साइट्रस फलों के श्रेणी का एक फल है जिसमे बहुत प्रचुर मात्रा में कैल्शियम होता है इसको खाने से शारीर के अन्दर की बेक्टेरिया बहुत जल्द ख़त्म होती है और इसके खाने पर बहुत जल्द यूरिन इन्फेक्शन ठीक होता है|

गोक्षुरादी गुग्गुळ – यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि दवा

गोक्षुरादी गुग्गुळ यह दवाई पतंजलि के द्वारा खास तौर पर (UTI) यूरिन इन्फेक्शन, किडनी और यूरिन की समस्याओ को ठीक करने के लिए और सुधार करने के लिए बनाया गया है|

गोक्षुरादी-गुग्गुळयूरिन-इन्फेक्शन-का-आयुर्वेदिक-इलाज-पतंजलि-दवा
गोक्षुरादी गुग्गुळ

इस दवाई के प्रयोग से (UTI) यूरिन इन्फेक्शन में बहुत लाभ होता है और यह दवाई Urine formation or burning sensation or discomfort while urinating जैसे कयी अन्य समस्याओ के लिए कारगर और लाभदायक यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि की दवा है| यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय

यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय – यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि

निम्नलिखित घरेलु उपचार और आयुर्वेदिक तरीको को अपनाकर यूरिन इन्फेक्शन को जड़ से ख़त्म करने में मदद मिलेगी|

  • हेल्दी डाइट लें और अधिक पानी का सेवन करें
  • क्रैनबेरी जूस का सेवन करें
  • आम्बला का जूस पिए यह बेक्टेरिया को ख़त्म करता है
  • चावल का पानी पिए 
  • लहसुन का इस्तेमाल करें
  • बादाम, छोटी इलायची और मिश्री के पेस्ट को पानी में दाल कर पिए
  • नारियल पानी पिए 
  • साइट्रस फलों का सेवन करें
  • भोजन के साथ छाछ एवं दही का प्रयोग जरूर करें
  • तिल और गुड़ का सेवन करें
  • यूरिन इन्फेक्शन के बेक्टेरिया को ख़त्म करने के लिए करौंदा खाएं
  • चीनी का इस्तेमाल कम करें
  • सेब के सिरके में निम्बू का रस और शहद मिलाकर पिए
  • इलायची को अनार के रस के साथ पिए
  • पानी में फुले हुए गेहूं खाए 
  • अनानास का जूस पिए यह बेक्टेरिया को ख़त्म करता है 

ऊपर बताई गयी सभी यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलि उपचार और घरेलु उपचार करने पर (UTI) यूरिन इन्फेक्शन का नाम और निशान को हटाया जा सकता है| यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय के इस आर्टिकल में जितने भी आयुर्वेदिक और घरेलु उपचार बताये है वे सभी बिना किसी दुस्प्रभाव के आपके शारीर पर काम करती है|

यूरिन इन्फेक्शन कितने दिन में ठीक होता है

कई महिलओं को और वृद्ध लोगो को (UTI) यूरिन इन्फेक्शन की समस्या बार बार होती है उनको किसी अच्छे विशेशग्य से उपचार कराना पड़ता है जिसमे थोडा अधिक समय लग सकता है| लेकिन सामान्यतः 10 से 15 दिन में एंटीबायोटिक दवाइयों के उपचार से ठीक हो जाता है|

यूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय

हेल्दी डाइट लें और अधिक पानी का सेवन करें
क्रैनबेरी जूस का सेवन करें
आम्बला का जूस पिए यह बेक्टेरिया को ख़त्म करता है
चावल का पानी पिए 
लहसुन का इस्तेमाल करें
बादाम, छोटी इलायची और मिश्री के पेस्ट को पानी में दाल कर पिए
नारियल पानी पिए 
साइट्रस फलों का सेवन करें
…..पूरा आर्टिकल पढ़ें|

यूरिन इन्फेक्शन में क्या खाना चाहिए

 विटामिन c से भरपूर खट्टे फल खाना चाहिए साथ ही अधिक से अधिक पानी और जूस का सेवन करना चाहिए इससे यूरिन इन्फेक्शन को जल्दी ठीक होने में मदद मिलता है और स्वास्थ के लिए भी अच्छा होता है|

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज पतंजलियूरिन इन्फेक्शन में घरेलू उपाय के बारे में विस्तार से जानकारी दी है| बतायी गयी सभी जानकारी को पूरा रिसर्च करके और 15 साल के अनुभवी डॉक्टर के सलाह के द्वारा बतायी गयी है

Rate this post

Leave a Comment